Motivational Poem In Hindi खुशी को ढूंढने की जरूरत नहीं..,

खुशी को ढूंढने की जरूरत नहीं, Motivational Hindi Poem For Success

इस Motivational Poem In Hindi में हम खुशी को ढूंढने की जरूरत नहीं..!! Smile-Please…!! कविता से आपके सामने lifeकी सच्चाई रखने की कोशिश कर रहे है ! Motivational Hindi Poem For Success मे हमारा सच को अपनाते हुए, Motivate करने का ये छोटा सा प्रयास है! “खुशी को ढूंढने की जरूरत नहीं” Best Motivational Poem In Hindi, द्वारा हम यही बता रहे है की, खुशी आपको मिल जायेगी, ढूंढने की जरूरत नहीं है, कैसे ??पढिये ..let’s read…

Best Motivational Shayari Quotes Hindi

Maa Ki Mahima Par Kavita

World Organ Donation Day

The Best Motivational Poem In Hindi

खुशीको ढूंढनेकी जरूरत नहीं….!! Smile-Please…!!

जब देखा, बिन मां बाप के बच्चों को सड़क पर घूमते..,

तब लगा अच्छी है मेरी खुशकिस्मत जिंदगी…!(1)

जब देखा, भूख से तड़पती दो दिन के बच्चे की मां को..,

तब लगा अच्छी है मेरी खुशकिस्मत जिंदगी…!(2)

 जब देखा पत्नी के ग़म में डूबे पती को तडपते..,

तब लगा अच्छी है मेरी खुशकिस्मत जिंदगी…!(3)

 जब देखा विधवा का ठप्पा लगे हुए यौवनवती सुंदरी को

तब लगा अच्छी है मेरी खुशकिस्मत जिंदगी…!(4)

 साँस के ताने , पती का घूत्कार  और मार देखा..,

तब लगा अच्छी है मेरी खुशकिस्मत जिंदगी…!(5)

 पेट की आग बूझाने यौवन को निलाम होते देखा..,

तब लगा अच्छी है मेरी खुशकिस्मत जिंदगी…!(6)

सूनी गोद देखी, किलकारी यों के लिए तड़प देखी..,

तब लगा अच्छी है मेरी खुशकिस्मत जिंदगी…!(7)

जब देखा अफसर की औकाद को मेज पर पौंछा लगाते

तब लगा अच्छी है मेरी खुशकिस्मत जिंदगी…!(8)

 
 “जो हे बस वहीं खुशी है दोस्तों… ,

खुशी को ढूंढने की जरूरत नहीं है …!! 

आपकी खुशी आपके पास जरूर आएगी …!!!

So live always happy in any Situation..!!(9) 

” Best Motivational Poem In Hindi “

“Khushi ko dhundne ki jarurat nahi” Smile-please….!!

Jab dekha bin maa baap ke bachchon ko sadak par..,

tab laga achchhi hai meri khus-kismat jindagi…!(1)

Jab dekha, bhukh se tadapati do din ke bachche ki maa ko..,

tab laga achchhi hai meri khus-kismat jindagi…!(2)

Jab dekha patni ke gam mei dube pati ko tadapate..,

tab laga achchhi hai meri khus-kismat jindagi…!(3)

Jab dekha vidhava ka thappa lage hue youvanavati sundari ko

tab laga achchhi hai meri khus-kismat jindagi…!(4)

Saans ke taane, pati ka dutakkar aur maar dekha..,

tab laga achchhi hai meri khus-kismat jindagi…!(5)

Pet ki aag bujane ko yauvan ko nilam hote dekha..,

tab laga achchhi hai meri khus-kismat jindagi…!(6)

Suni goad dekhi, kilakaari yo ke lie tadap dekhi ..,

tab laga achchhi hai meri khus-kismat jindagi…!(7)

jab dekha officer ki aukaad ko mej par pocha lagate

tab laga achchhi hai meri khus-kismat jindagi…!(8)

“Jo hai bas vahi khushiyaan hai doston… ,

khushi ko dhundne ki zarurat nahi hai…!!

aapki khushi aapake paas jarur aayegi…!!!

So live always happy in any Situation..!!(9)
 

इस तरह Author meena jain बताना चाहती है की, खुशी को ढूंढने की जरूरत नहीं है, जो है जैसा भी है, वही खुश रहने की कोशिश करते रहना चाहिए, क्योंकि अक्सर जो हम चाहते है वो होता नहीं और हम upset हो जाते है| ये life इतनी precious होती है जो दोबारा नहीं मिलती इसीलिए हर हाल मै खुश रहने की हर कोशिश करनी चाहिए|

माना की ये इतना भी आसान नहीं, पर हा, नामुमकिन भी नहीं, so try it… मै भी अक्सर दुसरों के गम देख के खुद के गम भूल जाती हु, Best luck to all my friends..!! Thanks, Friends for reading this खुशी को ढूंढने की जरूरत नहीं, Motivational Poem In Hindi, Smile-Please…!!

Leave a comment